आईजी ने साईबर क्राईम को लेकर पुलिस अधिकारियों को किया मुस्तैद

देहरादून। विशेष संवाददाता। पुष्पक ज्योति पुलिस उपमहानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र द्वारा रेन्ज स्तर पर दो दिवासीय कार्यशाला बैंक फ्राड व धारा 420 भा0द0वि0”पर करायी गयी। जिसका शुंभारम्भ पुलिस उपमहानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र द्वारा किया गाया। इस दो दिवासीय कार्यशाला में रेन्ज स्तर के सभी जनपदों से लगभग 60 उपनिरीक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया।पुष्पक ज्योति पुलिस उपमहानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र द्वारा बताया गया कि आने वाला समय साईबर युग है। अब दिन-प्रतिदिन अब क्राईम का भी तरीके बदलते जा रहे है। इस के लिये जरुरी है,कि समय से पुलिस को भी साईबर क्राईम की जानकारी होनी अतिआवश्यक है।

जैस कि अभी हाल ही मैं जनपद दून में। राज्य में काफी लोगों का करोडों रुपयों की धोखाधडी का मामला उत्तराखण्ड पुलिस की सक्रियता के चलते वर्कआऊट किया गया। बैंक फ्राड मामलों में विवेचना के दौरान क्या-क्या सावधानियां रखनी चाहिये व किन-किन दस्तावेजों का बारीकी से मूंल्याकन करने के साथ सम्बन्धित बैंक से जानकारी लेनी चाहिये। साथ ही 420 आई0पी0सी0 के मामलों कोगंमभीरता से लेते हुये जांच की गुण्वक्ता के बारे में विस्तार पूर्वक बताया गया।

साथ ही बताया कि इस दो दिवासीय कार्यशाला में आज बैक फ्राड व 420 आई0पी0सी0 के मामलों में विशेषज्ञों द्वारा जानकारी दी जायेगी। वहीं भूमि से सम्बन्धित मामलों की जांच के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी जायेगी। जिसमें मेरे द्वारा भी इस विषय पर विवेचकों को विभिन्न भूमि से सम्बन्धित प्रचलित मामलों के माध्यम से व्याख्यान दिया जायेगा।इस कार्यशाला में बैंक फ्राड से सम्बन्धित मामलों में सचिन मोहन(रीजनल हेड फ्राड कन्ट्रोल यूनिट,ऐक्सिस बैंक व उनकी टीम),संन्तोष कुमार उप्रेती पूर्व पुलिस अफसर ने बैंक फ्राड व धारा 420आई0पी0सी के मामलों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी।इस दौरान पुलिस अधीक्षक यातायात, ए0एस0पी देहरादून, मनीषा नेगी मीडिया प्रभारी रेन्ज कार्यालय के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *