आयकर विभाग की रडार पर आईएएस अफसर, करोड़ो के हीरे होने की जानकारी


देहरादून। उत्तराखंड का एक आईएएस अफसर आयकर विभाग की रडार पर है। अफसर के पास 16 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति और करीब एक करोड़ रुपये के हीरे होने की जानकारी मिली है। इनकम टैक्स ने प्राथमिक जांच भी पूरी कर ली है। अब आगे की कार्रवाई के लिए वरिष्ठ अफसरों से इजाजत ली जाएगी।

आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक उत्तराखंड सरकार में अपर सचिव पद पर तैनात आईएएस अफसर के यूपी निर्माण निगम के एक अधिकारी और एक ठेकेदार के साथ गहरे संबंध रहे हैं। अफसर के परिवार के सदस्यों की ठेकेदार की फर्म में भी हिस्सेदारी भी बताई जा रही है। पिछले साल आयकर ने जब निर्माण निगम के अफसरों और ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की थी तो मामले में एक आईएएस अफसर का सुराग मिला। इसके बाद आयकर ने आईएएस अफसर के खिलाफ प्राथमिक जांच शुरू की।

बताया जा रहा है कि जांच में अफसर के पास 16 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति होने का पता चला है। अफसर के परिवारवालों के नाम पर भी कई संपत्ति अर्जित की गई। अफसर के विभाग से जुड़े कांट्रेक्टरों ने उनके परिवारवालों को लाखों की रकम खातों में दी है। हालांकि आयकर को पड़ताल के दौरान बताया गया कि यह रकम कर्ज में ली गई है। जांच में पता लगा है कि आईएएस अफसर के पास करीब एक करोड़ रुपये के हीरे हैं।

इसके अलावा देहरादून शहर के बीचों-बीच में भी करोड़ों रुपये की कोठी किसी और के नाम पर दर्ज है। आयकर ने प्राथमिक जांच रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी है। सूत्रों की मानें तो रिपोर्ट के तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की अनुमति मिलती है तो कई बेनामी संपत्तियां सामने आएंगी।

रिटायर्ड आईएएस अफसर भी घेरे में
उत्तर प्रदेश निर्माण निगम के वरिष्ठ अधिकारी से जुड़े मामले की जांच घेरे में राज्य के रिटायर्ड वरिष्ठ नौकरशाह का नाम भी सामने आया है। बताया जा रहा है आयकर को जांच में पता चला है कि रिटायर्ड आईएएस को एक साल के भीतर पांच करोड़ रुपये अलग-अलग स्रोत से दिए गए। इसके अलावा कई दूसरी परियोजनाओं में भी रिटायर्ड अफसर की हिस्सेदारी का सुराग लगा है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *