आईएएस की परीक्षा में उत्तराखंड की बेटियों ने दिखाया शानदार प्रदर्शन, अपूर्वा पांडे स्टेट टाॅपर


देहरादून। देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के शुक्रवार को घोषित नतीजों में उत्तराखंड के होनहारों ने शानदार प्रदर्शन किया है। टॉप 100 रैंक में उत्तराखंड की दो बेटियों ने जगह बनाकर भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अफसर बनने के लिए अपनी सीट पक्की कर ली। हल्द्वानी की अपूर्वा पांडे को 39 और उत्तराखंड की ही प्रतिष्ठा ममगाईं को 50वीं रैंक हासिल हुई है।

अपूर्वा को दूसरे प्रयास में मिली सफलता

अपूर्वा को यह सफलता दूसरे प्रयास में मिली है। अपूर्वा मूल रूप से अल्मोड़ा के खोल्टा की निवासी हैं। अपूर्वा के पिता केसी पांडे पॉलीटेक्निक कॉलेज कोटाबाग में इंजीनियरिंग के प्रवक्ता हैं। मां मीना पांडे जीजीआईसी नैनीताल में रसायन विज्ञान की लेक्चरर हैं। इससे पहले बीटेक की पढ़ाई के दौरान भी यूपीएससी की परीक्षा दी थी।

इन्होंने फहराया परचम

1. अपूर्वा पांडे (39 रैंक)
2. प्रतिष्ठा ममगाईं (50 रैंक)
3. विशाखा डबराल (134रैंक)
4. शानू डिमरी (270 रैंक)
5. रितेश भट्ट (302 रैंक)
6. मनी अरोड़ा (360 रैंक)
7. आदित्य पंत (368 रैंक)
8. सुदर्शन भट्ट (423 रैंक)
9. वर्णित नेगी (504 रैंक)
10. मुकुल जमलोकी (505 रैंक)
11. मोनिका राणा (577 रैंक)
12. मोहित जोशी (918 रैंक)
13. मयंक नेगी (944 रैंक)

मुकुल और रितेश ने सुधारी रैंक

यूपीएससी की पिछले साल हुई परीक्षा में देहरादून के मुकुल जमलोकी और रितेश भट्ट ने सफलता अर्जित की थी। मुकुल को तब 609 और रितेश को 361 रैंक हासिल हुई थी। इस बार रितेश ने 302 और मुकुल ने 505वीं रैंक हासिल की है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *