फौजी ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या


गुप्तकाशी। चार वर्ष पूर्व रिटायर हुए एक पूर्व फौजी ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से स्वयं को गोली मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। परिजन शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे, लेकिन इस बीच पुलिस को भनक लग गई, जिसके बाद पुलिस शवयात्रा में पहुंचकर शव को अपने कब्जे में ले लिया तथा उसका पोस्टमार्टम कराया। पुलिस अब मामले की जांच कर रही है।

सुबह करीब आठ बजे गुप्तकाशी के तल्ला मैखंडा गांव निवासी 43 वर्षीय संत लाल पुत्र गोविंद लाल कमरे में अकेला था, उसके बच्चे व पत्नी कीचन मे थे। इस बीच संत लाल के कमरे से गोली की आवाज आई। पत्नी और बच्चे तेजी से ऊपर वाले कमरे में पहुंचे, तो देखा कि संत लाल दरवाजे के पास मृत हालत में है। समीप ही बंदूक भी थी। उसने अपनी कनपटी में गोली मारी थी।

इस पर आसपास के लोग एकत्रित हुए। ग्रामीण व अन्य परिजन शव को औपचारिकताएं पूरा कर शव को अंत्येष्टि के लिए पैतृक घाट के लिए चल दिए। इस बीच पुलिस को भी सूचना मिल गई। थाना

प्रभारी राजेंद्र रौतेला पुलिस फोर्स के साथ शव यात्रा में पहुंचे तथा सभी को रोक दिया। शव को पुनः वापस उसके घर लाया गया। यहां पर पुलिस ने घटनास्थल की छानबीन कर परिजनों से पूछताछ की। साथ ही लाइसेंसी डबल बैरल की बंदूक और खोखा भी कब्जे में ले लिया है। पंचनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

थाना प्रभारी ने बताया कि संत लाल सेना से चार वर्ष पूर्व रिटायर हुआ था। उसके तीन बेटे हैं, जिसमें एक नवोदय विद्यालय में पढ़ता है। रात्रि को उसने अपनी पत्नी से सीने में दर्द होने की शिकायत की थी। इसके बाद उसकी पत्नी व दोनों बच्चों से कोई बात नहीं हुई। वह ऊपरी कमरे में अकेले थे। रौतेला ने बताया कि मामले में सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच शुरू कर दी गई है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *