बाबा रामदेव से हुई स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज की मुलाकता


ऋषिकेश। संवाददाता। परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज और योगगुरू बाबा रामदेव की भेंटवार्ता हुई। स्वामी महाराज ने आगामी प्रयाग कुम्भ को स्वच्छ और हरित बनाने, योग से प्रत्येक व्यक्ति को जोड़ने, योगा फॉर पीस योगा फॉर ऑल, गंगा के किनारों पर वेलनेस और स्पा सेन्टर खोलने जिससे माध्यम से उत्तराखण्ड की संस्कृति, प्रयाग कुम्भ के दौरान योग महाकुम्भ के आयोजन और आयुर्वेद का प्रसार विश्व स्तर पर करने तथा कुम्भ मेला को हरित कुम्भ मेला के रूप में विकसित करने पर चर्चा हुई।

विश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस के अवसर पर देशवासियों को पर्यावरण बचाने का संदेश देते हुये स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने कहा कि पर्यावरण का संरक्षण प्रत्येक मनुष्य की जिम्मेदारी है। प्रकृति प्रदत संसाधन का उपयोग धरती पर रहने वाले सभी प्राणी करते है, सभी को स्वच्छ वायु, जल, मृदा की आवश्यकता होती है अतः इनका संरक्षण करना हमारा परम कर्तव्य है। स्वामी महाराज ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिये जन जागरूकताएं, जन सहयोग, जन सहभागिता और जन आन्दोलन की जरूरत है।

उन्होने कहा कि जन बने जल, जंगल और जमीन के संरक्षक। हमें सेहतमंद रहने के लिये पहले पर्यावरण को सेहतमंद करना होगा। कहा कि उत्तराखण्ड के पास अमृत रूपी जल से युक्त गंगा है, स्वास्थ्य का खजाना लिये हिमालय विद्यमान है, स्वच्छ वायु और योग की संस्कृति है। इसे विकसित कर पूरी दुनिया के पर्यटकों को आकर्षित किया जा सकता है। स्वामी महाराज ने कहा कि कुम्भ मेले में पूरे विश्व से लगभग 15 करोड़ श्रद्धालु सहभाग करते है अतः कुम्भ के दौरान योग महाकुम्भ का आयोजन करके हम योग और अध्यात्म का संदेश पूरे विश्व तक पहुंचा सकते है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *