राम मंदिर को लेकर देश के संत करेंगे फैसलाः आलोक कुमार


ऋषिकेश। विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रोफेसर आलोक कुमार ने कहा कि राम मंदिर की लड़ाई भले ही विश्व हिंदू परिषद और आरएसएस लड़ रहे हैं, लेकिन इसके लिए फैसला देश के संतों को करना है। धर्म संसद में होने वाले निर्णय का विहिप धरातल पर पालन करेगा।

वीरभद्र मार्ग स्थित योगा रिट्रीट में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रोफेसर आलोक ने कहा कि देश में सरकार राम भक्तों की है और कानून भी इनका है। सरकार अयोध्या में राम मंदिर के लिए कानून बनाएगी। अगर ऐसा नहीं होता है तो 31 जनवरी और एक फरवरी को होने वाली धर्म संसद में संत जो भी फैसला लेंगे विश्व हिंदू परिषद उसका पालन करेगा। उन्होंने बताया कि पूरे देश में विहिप 545 सभाएं करेगा।

वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और उत्तराखंड प्रभारी श्याम जाजू ने कहा कि देश की सवा सौ करोड़ आबादी अब विश्व के सामने बोझ नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे समूचे विश्व के सामने सवा सौ करोड़ मस्तिष्क के रूप में बेहतर ढंग से प्रस्तुत किया है। कार्यक्रम में परमार्थ निकेतन के परमाअध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज, विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद्र अग्रवाल, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, डॉ. बीके मोदी, एम्स के निदेशक प्रोफेसर रविकांत, साध्वी भगवती सरस्वती, एसआरएचयू के कुलपति डॉ. विजय धस्माना मौजूद रहे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *