108 सेवा तीसरे दिन भी ठप, मरीज बेहाल


देहरादून। संवाददाता। 108 एम्बुलेंस कर्मियों की हड़ताल आज तीसरे दिन भी जारी है। जिसके कारण मरीजों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। जहां कर्मचारी अभी भी अपनी मांगे न माने जाने तक आंदोलन जारी रखने पर अड़े हुए है वहीं राज्य में 108 सेवा संचालन करने वाली कम्पनी ने कर्मचारियों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्यवाही करने और उनकी जगह नई भर्ती करने की बात कही है।

हालांकि 108 सेवा का संचालन करने वाली कम्पनी जीवीके के प्रांतीय हेड मनीष टिंकू का कहना कि राज्य में 108 का 80 फीसदी संचालन शुरू हो गया है। लेकिन उनके इस दावे के बीच खबर यह भी है कि अभी कुछ ही गाड़िया चलना शुरू हुई है क्योकि इनके संचालन के वैकल्पिक ड्राइवर व तकनीशियनों की व्यवस्था नहीं हो सकी है। मनीष टिंकू द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार उन्होने इन कर्मचारियों को आज शाम तक काम पर लौटने का अल्टीमेटम दिया है और अगर वह नहीं लौटते है तो आज शाम से ही उनकी बर्खास्तगी की कार्यवाही भी शुरू हो जायेगी। उनका कहना है कि हमने नये लोगों की भर्ती के लिए भी काम शुरू कर दिया है।

अब तक 400 से अधिक लोगों का साक्षात्कार लिया जा चुका है उधर कम्पनी प्रबंधन द्वारा काम न करने वाले कर्मचारियों को नोटिस जारी करने का काम भी किया जा रहा है जिसमें उन्हे काम पर न लौटने पर बर्खास्त करने की बात कही गयी है। राज्य में कुल सात सौ से अधिक कर्मचारी 108 में काम कर रहे है अगर आज यह काम पर नहीं लौटे तो आज शाम से इसकी बर्खास्तगी शुरू हो जायेगी। आज शाम तक 30कृ40 लोगो को बर्खास्त किया जा सकता है।
108 एम्बूलेंस सेवा के ठप होने से जनपद देहरादून के लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

दून में कुल 11 गाड़ियां 108 व 9 खुशियों की सवारी संचालित की जा रही है लेकिन अब तक दो मामले ऐसे सामने आ चुके है जब एम्बूलेंस सेवा न मिलने के कारण दो महिलाओं का सड़क पर ही प्रसव हो गया। इसमें एक नवजात की मौत भी हो चुकी है। कम्पनी प्रबन्धन व कर्मचारियों के बीच जारी इस लड़ाई में आम आदमी पिस रहा है। इस विवाद के अभी जल्द सुलझने की संभावना नहीं है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *