उत्तराखण्ड की राष्ट्रीय शटलर कहू गर्ग ने दर्द बया किया

देहरादून। संवाददाता। उत्तराखंड की नंबर एक व अंतरराष्ट्रीय महिला शटलर कुहू गर्ग ने अपनी पीड़ा सार्वजनिक करते हुए बताया कि कहा कि क्रिकेट की तरह बैडमिंटन में स्पॉन्सरशिप मिलने लगे तो खिलाड़ियों को और बेहतर प्रदर्शन करने में सहयोग मिलेगा। प्रदेश में बैडमिंटन खिलाड़ियों को तराशने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की ऐकेडमी खोलने की जरूरत है। कुहू का लक्ष्य 2020 में टोक्यो में होने वाले ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करते हुए पदक जीतना है।

राजधानी देहरादून निवासी कुहू गर्ग ने हाल ही में ग्रीस ओपन इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप में मिक्स डबल्स वर्ग में देश के लिए स्वर्ण पदक जीता है।

उत्तरांचल प्रेस क्लब की ओर से आयोजित प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में कुहू ने अपने अनुभव साझा किए। इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले कुछ सालों में प्रदेश में खेलों की अवस्थापना सुविधाओं का विकास हुआ है।

सरकार को चाहिए कि यहां ऐसी ऐकेडमी स्थापित हो जिसमें बेहतर कोच, ट्रेनर, फिजियो सहित अन्य सुविधाएं हों। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अभिभावकों को देते हुए कहा कि अगर अभिभावक बच्चों को खेल के प्रति प्रेरित करते तो यहां से और भी खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय फलक पर पहुंचेंगे

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *