पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन के लिए काम करेगा संघ – भय्याजी जोशी

संघ पर्यावरण संरक्षण हेतु देशभर में विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से कार्य करेगा। इसमें जलसंवर्धन, वृक्षारोपण और प्लास्टिक –थर्मोकोल मुक्त पर्यावरण के प्रयास में समाज को साथ लेकर कार्य करेगा। वैसे तो संघ के स्वयंसेवक अपने स्तर पर पर्यावरण संरक्षण के प्रयासों में शामिल हैं और समाज में जागृति भी आ रही है। लेकिन अब संघ संगठित व योजनाबद्ध रूप से कार्य करेगा।

ग्वालियर : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने ग्वालियर में आयोजित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रतिनिधि सभा के अंतिम दिन प्रेस वार्ता में कहा कि बैठक में संघ कार्य की समीक्षा और समसामयिक विषयों पर चिंतन किया गया। संघ ने इस बार पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन की दिशा में कार्य करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही सामाजिक समरसता पर और अधिक प्रभावी रूप से कार्य करने का आग्रह स्वयंसेवकों से किया है। उन्होंने कहा कि संघ कार्य एक मोड़ पर पहुंच चुका है, अब कार्य विस्तार की दृष्टि से एक बड़ी छलांग लेने की आवश्यकता है।

भय्याजी ने बताया कि प्रतिनिधि सभा की बैठक में शबरीमला मंदिर प्रकरण को लेकर प्रस्ताव पारित किया गया। साथ ही श्री गुरू नानकदेव जी के 550वें प्रकाश पर्व और जलियांवाला बाग के प्रेरणादायी बलिदान की शताब्दी पर वक्तव्य जारी किया है।

उन्होंने कहा कि संघ ने इस बार एक नया विषय हाथ में लिया है। आज विश्व के समक्ष पर्यावरण प्रदूषण विकट समस्या के रूप में उपस्थित है। संघ पर्यावरण संरक्षण हेतु देशभर में विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से कार्य करेगा। इसमें जलसंवर्धन, वृक्षारोपण और प्लास्टिक –थर्मोकोल मुक्त पर्यावरण के प्रयास में समाज को साथ लेकर कार्य करेगा। वैसे तो संघ के स्वयंसेवक अपने स्तर पर पर्यावरण संरक्षण के प्रयासों में शामिल हैं और समाज में जागृति भी आ रही है। लेकिन अब संघ संगठित व योजनाबद्ध रूप से कार्य करेगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *