परमार्थ निकेतन में पांच दिवसीय स्वास्थ्य शिविर आयोजित


देहरादून। संवाददाता। परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष व गंगा एक्शन परिवार के प्रणेता स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने परमार्थ निकेतन में चलने वाले दीप प्रज्जवलित कर स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन किया। परमार्थ निकेतन में पांच दिनों तक चलने वाले चिकित्सा शिविर में दांतों की निःशुल्क जाँच, दांतों एवं मसूड़ों की सफाई, दांत निकालना, दांत भरवाना, दांता की झनझनाहट का इलाज साथ ही निशुल्क दन्त परीक्षण, डायबिटीज, दमा, अस्थमा रोग की भी जांच की जायेगी तथा निशुल्क दवाईयों का वितरण किया जायेगा।

स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने चिकित्सकों से चर्चा के दौरान उत्तराखण्ड राज्य की चिकित्सा स्थितियों के विषय में विस्तृत जानकारी दी। स्वामी जी ने जोर देकर कहा कि आधुनिक चिकित्सा पद्धति का लाभ ग्रामीणों एवं उत्तराखण्ड राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों तक भी पहुंचना चाहिये।

स्वामी चिदानन्द जी महाराज ने कहा कि ’मानव सेवा के साथ-साथ प्रकृति की सेवा करना सभी का परम कर्तव्य है। वर्तमान समय में मनुष्य ने अपनी जीवन पद्धति को प्रकृति से दूर कर लिया है जिसके कारण व्याधियां बढ़ते जा रही है। हमें व्याधियों को कम करना है तो प्रकृति के अनुरूप जीवन यापन करना होगा। उन्होने कहा कि प्रकृतिमय जीवन पद्धति ही श्रेष्ठ जीवन पद्धति है।

स्वामी जी ने कहा कि लन्दन और ऋषिकेश के चिकित्सकों की पूरी टीम पूर्ण भक्तिभाव से भरी टीम है, मानवता की सेवा ही उनके लिये सच्ची पूजा है। इन्होने मावनता एवं भक्ति के सार को समझा। स्वामी जी ने सभी चिकित्सकों को पुष्प हार पहनाकर आशीर्वाद दिया।

स्वामी जी महाराज ने डाक्टरों से आहवान किया कि रोगियों के दांत के दर्द के साथ-साथ लोगों के दिलों में जो दर्द है, पीड़ा है उसके लिये भी सहानुभूति रखें, यही सच्ची सेवा हैैै। इस मौके पर एम्स के निदेशक डाॅ रविकान्त, डाॅ उपेन पटेल, डेन्टल सर्जन, पीएचडी लन्दन, डाॅ प्रीता लोढिया, डेन्टल सर्जन लंदन, डाॅ माया दाभी, डेन्टल सर्जन, लन्दन, डेन्टल सर्जन डाॅ केतन पटेल, लन्दन, डाॅ मनोज काण्डपाल, डेन्टल सर्जन, ऋषिकेश, डाॅ दीप्ती जोगिया, मेडिकल डाॅक्टर, लन्दन, विनोद लोढिया, डाॅ रवि कौशल, मेडिकल डाॅक्टर आदि मौजूद रहे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *