फर्जी वेबसाईट से सरकार को राजस्व का नुकशान पहुंचाने वाला गिरोह हिरासत में


देहरादून। संवाददाता। आर.टी.ओ. की फर्जी बेवसाईट के द्वारा टैक्स की फर्जी रसीदें काटकर उत्तराखण्ड सरकार को राजस्व का नुकसान पहुचाने वाले गैंग के सरगना सहित तीन शातिरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती ने बताया कि पिछले दिनों ए.आर.टी.ओ. अरविन्द पाण्डेय के द्वारा जनपद में वाहनों की चैकिंग करने के दौरान पाया कि जनपद में कई वाहनों की टैक्स रसीदे र्फर्जी तरीके से बनी है। जिसके सम्बन्ध में पुलिस से शिकायत की गयी थी। राजस्व हानि पहुचाने के अपराध को गम्भीरता से लेते हुए जांच साईबर सैल को दी गयी। उक्त क्रम में राजपुर थाना क्षेत्र में कुठाल गेट पर अरविन्द पाण्डेय के द्वारा एक अन्य वाहन को र्फर्जी टैक्स प्रमाण पत्र सहित पकड़ा गया तथा वाहन स्वामी तुषार मुलचन्दानी के द्वारा थाना राजपुर में इसकी तहरीर दी गयी।

मामले की जांच में पाया कि ठगों द्वारा र्फर्जी रूप से बेवसाईट को रजिस्टर्ड करवाया गया है। जांच में जुटी पुलिस टीमों के द्वारा साईबर तकनीकों व अन्य दस्तावेजों साक्ष्यों की मदद से पलवल हरियाणा में आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु सम्भावित जगहो पर दबिश दी गयी तथा मुख्य अभियुक्त पवन कुमार(32) पुत्र गिरधारी निवासी पलवल हरियाणा को गिरफ्तार किया गया। आरोपी द्वारा मुकदमें में र्फर्जी बेवसाईट को अपने नाम से रजिस्टर्ड करवाया गया था।

आरोपी ने बताया कि उक्त बेवसाईट टिंकु नाम के व्यक्ति से बनवायी थी तथा थाना राजपुर में दर्ज मुकदमें में प्रकाश में आये अभियुक्त राहुल को जानना बताया गया। पुलिस टीम के द्वारा होडल रेलवे स्टेशन से आरोपी राहुल को गिरफ्तार कर लिया। पवन से पुछताछ करने पर पता चला कि उसने रामपुर तिराहा मुजफ्फरनगर बाईपास के पास शाहवेज को यूजर आई.डी. व पासवर्ड दिया गया है तथा शाहवेज ही र्फर्जी आर.टी.ओ. टैक्स प्रमाणण्पत्र बनाता व काटता है। पुलिस द्वारा शाहवेज को भी गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने फर्जी प्रमाण पत्र तैयार करने वाले कम्प्यूटर संशाधनों को कब्जे में लिया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *