केदारनाथ में हार्टअटैक से एक यात्री की मौत, अब तक 26 यात्रियों की जा चुकी जान


रूद्रप्रयाग। केदारनाथ धाम में हार्टअटैक से एक तीर्थ यात्री की मौत हो गई है। कपाट खुलने के बाद से अब तक मरने वालों की संख्या 26 हो गई है। वहीं आज सुबह 8 बजे तक बाबा केदार के दर्शनों के लिए गौरीकुंड से 5530 श्रद्धालुओं ने पैदल मार्ग से धाम के लिए प्रस्थान किया।

वहीं गुरुवार केदारनाथ और यमुनोत्री यात्रा के दौरान बुधवार को दो महिलाओं सहित चार लोगों की हृदय गति रुक जाने से मौत हो गई थी। बताया गया कि कल केदारनाथ में प्रात; 9.30 बजे कल्पना खरे (67) पत्नी विमल खरे, निवासी जबलपुर, मध्य प्रदेश की अचानक तबियत बिगड़ गई। परिजन पुलिस की मदद से महिला को सिक्स सिग्मा अस्पताल लाए, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था।

एक अन्य महिला यात्री इमरती देवी (67) पत्नी इंदर सिंह, निवासी सैनीपुरा, सुभाष रोड, जिला रोहतक (हरियाणा) की गौरीकुंड में अचानक तबियत खराब हो गई। परिजन उन्हें फाटा चिकित्सालय लाए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था।

यमुनोत्री धाम यात्रा के दौरान अभी तक सात तीर्थयात्रियों की मौत
टीजीएमओयू के बस चालक कृपाल सिंह (64 वर्ष) पुत्र गोविंद सिंह, निवासी ग्राम कंडियाल, प्रतापनगर, लंबगांव, टिहरी की सीतापुर में हृदय गति रुकने से मौत हो गई थी। बताया गया है कि वह हरिद्वार से यात्रियों को केदार दर्शन के लिए लाया था। सीतापुर में बस खड़ी करने के बाद उसकी तबियत बिगड़ गई और अस्पताल में डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यमुनोत्री धाम की यात्रा पर पहुंचे जयपुर (राजस्थान) के एक तीर्थयात्री की हार्टअटैक से मौत हो गई थी। बुधवार दोपहर करीब सवा दो बजे यमुनोत्री मंदिर परिसर में तीर्थयात्री पुरण जी मीणा (48) पुत्र कल्याण मीणा निवासी सेक्टर 8 इंदिरागांधी नगर जयपुर (राजस्थान) की अचानक तबियत बिगड़ गई।

परिजन उन्हें लेकर यमुनोत्री स्थित स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जहां चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उन्होंने हार्टअटैक को मौत का कारण बताया। इस यात्रा सीजन में यमुनोत्री धाम की यात्रा के दौरान अभी तक हार्टअटैक से सात तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *