केरल में भाजपा की जनरक्षा यात्रा; जिहादी आतंकवाद को बढ़ावा दे रही केरल सरकार-योगी आदित्यनाथ

गौरतलब है कि केरल में वामपंथी हिंसा के विरोध में अमित शाह ने मंगलवार को जनरक्षा यात्रा का आगाज किया था। आज योगी भी इस यात्रा में शामिल हुए । उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने राज्‍य की वामपंथी सरकार पर जमकर प्रहार किया। केरल में भाजपा-आरएसएस कार्यकर्ताओं की ‘राजनीतिक हत्‍याओं’ की कड़ी आलोचना करते हुए योगी ने कहा कि मुख्‍यमंत्री पिनाराई विजयन के नेतृत्‍व में राज्‍य में हिंसा बढ़ रही है और तेजी से जिहादी आतंकवाद का माहौल पनप रहा है।

कन्‍नूर (एएनआइ) : भाजपा ने केरल में वामपंथी हिंसा के खिलाफ बिगुल फूंक दिया है। पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह के बाद आज भाजपा शासित उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने राज्‍य की वामपंथी सरकार पर जमकर प्रहार किया। केरल में भाजपा-आरएसएस कार्यकर्ताओं की ‘राजनीतिक हत्‍याओं’ की कड़ी आलोचना करते हुए योगी ने कहा कि मुख्‍यमंत्री पिनाराई विजयन के नेतृत्‍व में राज्‍य में हिंसा बढ़ रही है और तेजी से जिहादी आतंकवाद का माहौल पनप रहा है।

गौरतलब है कि केरल में वामपंथी हिंसा के विरोध में अमित शाह ने मंगलवार को जनरक्षा यात्रा का आगाज किया था। आज योगी भी इस यात्रा में शामिल हुए और जोर देते हुए कहा कि यह रैली केरल, पश्चिम बंगाल व त्रिपुरा की सरकारों के लिए एक आईना है जो लोकतंत्र की बात करते हैं मगर हिंसा में यकीन रखते हैं। योगी ने कहा कि लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई जगह है ही नहीं।

इससे पहले हिंसा के विरोध में जनरक्षा यात्रा का आगाज करते हुए मंगलवार को अमित शाह ने कहा था कि लाल आतंक के खात्मे तक भाजपा का संघर्ष जारी रहेगा। 15 दिन तक चलने वाली इस यात्रा का नेतृत्व करते हुए पहले दिन अमित शाह खुद नौ किलोमीटर की पदयात्रा की।

केरल में भाजपा की राजनीतिक महत्वाकांक्षा को देखते हुए इस यात्रा को अहम माना जा रहा है। यात्रा में शामिल एक वरिष्ठ नेता ने अगले लोकसभा चुनाव में केरल में 8-10 सीटें जीतने का दावा भी कर दिया।

यात्रा की शुरुआत केरल के पेयनूर से कर अमित शाह ने केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन को सीधे तौर पर चुनौती भी दे दी। पेयनूर विजयन का गृह क्षेत्र है और केरल में माकपा का सबसे मजबूत गढ़ माना जाता है। शायद यही कारण है कि माकपा यहां भाजपा और संघ परिवार को रोकने का सबसे अधिक प्रयास कर रही है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *