गोवा; कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए 10 विधायकों को लेकर संसद पहुंचे सीएम, शाह से मिलेंगे


दिल्ली। गोवा में कांग्रेस को झटका देते हुए 10 कांग्रेसी विधायक भाजपा खेमे में चले गए हैं। गुरुवार को सभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से संसद भवन में मुलाकात करेंगे। इसी बीच गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत कांग्रेस के दो बागी विधायकों के साथ संसद भवन पहुंच गए हैं। जहां वह शाह और पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ मुलाकात करेंगे। सभी विधायक बुधवार देर रात दिल्ली के लिए रवाना हुए थे।

प्रमोद सावंत ने कहा, ‘शाम को भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक होगी। इसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा। हमने उनके विधायक नहीं तोड़े हैं। उनके 10 विधायक खुद हमारे पास आए।’

भाजपा में शामिल होने के बाद कांग्रेस विधायक चंद्रकांत कावलेकर ने बुधवार को कहा कि चुनाव के बाद सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद हम सरकार नहीं बना सके। हमारे पास कई अवसर थे, लेकिन कुछ वरिष्ठ नेताओं के बीच एकता की कमी से ऐसा नहीं हो सका। मुख्यमंत्री अच्छा काम कर रहे हैं, इसलिए हमने भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है।

कावलेकर ने आगे कहा कि विपक्ष का नेता होने के बावजूद मेरे निर्वाचन क्षेत्र में विकास कार्य नहीं हो सका। अगर हमारे क्षेत्र में विकास ही नहीं हुआ तो अगली बार लोग हमें कैसे चुनेंगे। वहीं, मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि कांग्रेस विधायकों के शामिल होने के बाद अब विधानसभा में हमारी संख्या बढ़कर 27 हो गई है। वे राज्य और निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए बिना शर्त के हमसे जुड़े हैं।

अब यह है विधानसभा की तस्वीर
40 सदस्यीय विधानसभा में अब भाजपा के 27 विधायकों के अलावा गोवा फॉरवर्ड पार्टी के तीन, कांग्रेस के पांच, एनसीपी व एमजीपी का एक-एक और तीन निर्दलीय विधायक हैं। निर्दलीय विधायकों ने भाजपा को समर्थन दिया है।

भाजपा ने की लोकतंत्र की हत्या
कांग्रेस के दस विधायकों के भाजपा में शामिल होने से स्तब्ध कांग्रेस पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने वरिष्ठ नेता ए चेल्लाकुमार को राज्य में स्थिति का जायजा लेने के लिए भेजा है। कांग्रेस के सचिव एवं पार्टी के गोवा मामलों के प्रभारी चेल्लाकुमार बुधवार की रात यहां पहुंचे और आगे की कार्रवाई तय करने के लिए पार्टी के शेष पांच विधायकों के साथ विचार-विमर्श शुरू किया।

चेल्लाकुमार ने बताया कि पार्टी आलाकमान से परामर्श लेने के बाद पांचों विधायक अपना नेता चुनने के लिए एक बैठक करेंगे। उन्होंने गोवा में बुधवार के राजनीतिक घटनाक्रम को ‘भाजपा द्वारा लोकतंत्र की हत्या किया जाना’ करार दिया। कांग्रेस 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। अब उसके विधायकों की संख्या केवल पांच रह गई है। गोवा में 15 जुलाई से विधानसभा का मानसून सत्र आरंभ हो रहा है। चेल्लाकुमार ने आरोप लगाया कि भाजपा करोड़ों रुपये की पेशकश कर विपक्षी दलों के विधायकों को अपनी ओर खींच रही है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *