ढाडरबगड पुल से आवाजाही शुरू, क्षेत्रवासियों को राहत


थराली।  थराली विकासखंड के अंतर्गत सोल क्षेत्र में ढाडरबगड़ में रतगांव को जोडने वाला पुल (वैली ब्रिज) बनकर तैयार हो गया है। सालभर बाद इस पुल का निर्माण हुआ है। निर्माण कार्य पूरा होने के बाद शुक्रवार से पुल पर आवाजाही भी शुरू हो गई है। हालांकि पुल के दोनों तरफ सड़क निर्माण का कार्य अभी भी अधूरा है । जिसके जल्द पूरा होने की बात प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के अधिकारी कर रहे हैं। सालभर बाद पुल निर्माण होने और इस पर वाहनों की आवाजाही शुरू होने से क्षेत्र के लोगों ने राहत महसूस की है। इसके लिए क्षेत्रवासियों ने पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता प्रमो गंगाड़ी, कनिष्ठ अभियंता धीरेन्दª व निर्माणदायी संस्था का आभार जताया।

बता दें, बीते वर्ष 15 व 16 जुलाई को आई भयावह अपदा में ढाडरबगड़ में नदी के उपर बना 50 मीटर लंबा मोटर पुल बह गया था। नदी के दोनों तरफ भारी भूस्खलन होने से तीन किमी सड़क मार्ग भी पूरी तरह ध्वस्त हो गई थी। इससे रतगांव में रहने वाली तीन हजार से अधिक आबाद देश-दुनिया से अलग-थलग पड़ गई थी। यहां पर वैकल्पिक पुल बनाते समय गांव के एक व्यक्ति सुजान सिंह बिष्ट की भी नदी में बहने से अकाल मौत हो गई थी।

इस मामले के बाद में मजिस्ट्रेट जांच भी हुई थी। हालांकि शासन-प्रशासन से अब तक स्वर्गीय बिष्ट के परिवार को कोई मदद नहीं मिली है। इसके बाद यंहा पर सेना की बंगाल इंजनियर ग्रुप (बीईजी) ने वर्मा ब्रिज बनाया। लेकिन पहली बार बना ब्रिज भी महीनेभर बाद नदी की चपेट में आकर बह गया। सेना ने फिर दोबारा यंहा पर वर्मा ब्रिज तैयार किया । जिससे लोगा नदी आर पार होने लगे। इस बीच क्षेत्रवासियों के बढ़ते दबाव से विभागीय अधिकारियों ने बरसात का मौसम खत्म होने पर क्षतिग्रस्त मोटर मार्ग की मरम्मत का बीड़ा उठाया।

नदी पर मोटर पुल बनाने के लिए भी पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता प्रमोद गांगाड़ी ने अपने स्तर से पूरा प्रयास किया। निर्माण कार्य के दौरान रूभी उन्होंने निर्माणदायी संस्था को निर्धारित समयावधि में कार्य पूरा करने के निर्देश दिये थे। इसके बाद जाकर ठीक सालभर बाद ढाडरबगड में नदी पर वैली ब्रिज बनकर तैयार हो सका। रतगांव निवर्तमान क्षेत्र पंचायत सदस्य वीरेन्दª बिष्ट, प्रधान सुजान सिंह गुसाईं, सामाजिक कार्यकर्ता राम सिंह फरस्वण, बलवंत सिंह पुजारी, वीरेन्दª फरस्वाण, हरेन्दª फरस्वाण, मगन, मदन सिंह,महिपाल सिंह, हरेन्द्र बिष्ट, मोहन बिष्ट, मानवेन्द्र सिंह, पृथ्वी गुसाईं आदि ने विभागीय अधिकारियों का आभार जताया है। कहा कि पुल तैयार होने से बरसात के इस मौसम में लोगों को आवाजाही करने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी।

उन्होंने मोटर मार्ग के क्षतिग्रस्त हिस्से के साथ ही बूंगा स्लाइड जोन पर मरम्मत कार्य करने की मांग भी पीएमजीएसवाई से की है। कहा कि बरसात के मौसम में एक जेसीबी स्थाई रूप से डुंग्रीरतगांव मोटर मार्ग पर तैनात की जाए। ताकि बारिश के दौरान सड़क पर मलबा आने अथवा क्षतिग्रस्त होने से जल्द सड़क की मरम्मत की जा सके। क्योंकि क्षेत्रवासियों के आवागमन के लिए यही मुख्य मार्ग है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *