उत्तराखंडः चारधाम यात्रा सुचारू, धारचूला में पहाड़ी से मकान पर गिरा बोल्डर, चार घायल

घर पर गिरा बोल्डर
देहरादून। आज तड़के चार बजे धारचूला में एक घर पर पहाड़ से बड़ा बोल्डर गिर गया। हादसा तड़कोट गांव में हुआ, जिसमें परिवार के चार लोग घायल हो गए। जिन्हें स्थानीय लोगों द्वारा धारचूला अस्पताल पहुंचा गया। जहां सभी का उपचार चल रहा है।

वहीं आज प्रदेश के लगभग सभी इलाकों में सुबह से ही मौसम साफ बना रहा। राजधानी देहरादून में तड़के बादल छाए थे जो दिन चढ़ने के साथ साफ हो गए। चारधाम यात्रा मार्ग सुचारू बना हुआ है। केदारनाथ, बदरीनाथ और गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे पर आवाजारी सुचारू है।

12 जिलों में अब भी सामान्य से कम बारिश
प्रदेश के 12 जिलों में अब भी सामान्य से कम बारिश हुई है। पिछले हफ्ते सात जिलों में सामान्य से अधिक बारिश होने के चलते हालात में आंशिक सुधार हुआ है। हालांकि पौड़ी समेत कई जिलों में स्थिति अब भी बहुत बेहतर नहीं है।

मौसम विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार एक से सात जुलाई (एक सप्ताह) के दौरान बागेश्वर में सामान्य से 242 फीसदी तक ज्यादा बारिश हुई। इस दौरान जिले में कुल 206 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। वहीं, चंपावत, हरिद्वार, पिथौरागढ़, ऊधमसिंह नगर, रुद्रप्रयाग और बागेश्वर में भी सामान्य से अधिक बारिश हुई।

अब तक सामान्य तौर पर 680.4 मिमी बारिश
वहीं, देहरादून, पौड़ी, टिहरी, नैनीताल और उत्तरकाशी में सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई। विभागीय रिपोर्ट के मुताबिक पूरे सीजन में अब तक सामान्य तौर पर 680.4 मिमी बारिश के सापेक्ष 464 मिमी बारिश ही हुई है। पौड़ी जिले में 54 फीसदी तक कम बारिश रिकॉर्ड की गई है।

आज भी बारिश के आसार
मौसम विभाग के अनुसार आज भी राजधानी देहरादून समेत आसपास के इलाकों में बारिश हो सकती है। ज्यादातर इलाकों में बादल छाये रहने का अनुमान है। वहीं, कुछ इलाकों में गरज और चमक के साथ दो से तीन दौर की बारिश भी हो सकती है।

लामबगड़ में हाईवे सुचारु
लामबगड़ में मंगलवार से अवरुद्ध बदरीनाथ हाईवे बुधवार को मौसम सामान्य होने के बाद सुचारु हो गया है। हालांकि सुबह दस बजे तक लगभग 150 तीर्थयात्री लामबगड़ भूस्खलन क्षेत्र से करीब दो किलोमीटर की दूरी पैदल तय करने के बाद फिर वाहन से बदरीनाथ धाम पहुंचे। जबकि करीब 800 तीर्थयात्री वाहनों से बदरीनाथ धाम पहुंचे।

मंगलवार को लामबगड़ भूस्खलन क्षेत्र से गुजर रही एक बस के ऊपर से बोल्डर आ गए थे, जिससे छह लोगों की मौत और आठ सवारियां घायल हो गए थे। तब से हाईवे अवरुद्ध पड़ा हुआ था। बुधवार को सुबह नौ बजे लामबगड़ क्षेत्र में मौसम सामान्य हुआ, जिसके बाद एनएच की जेसीबी से हाईवे पर आए मलबे और बोल्डरों को हटाया गया।

लामबगड़ में पुलिस के साथ ही एसडीआरएफ की टीमें मौजूद
सुबह दस बजे तक बदरीनाथ हाईवे सुचारु हो पाया। इसके बाद बदरीनाथ धाम में फंसे करीब दो सौ तीर्थयात्रियों को उनके गंतव्य को भेजा गया, जबकि जोशीमठ, पांडुकेश्वर और गोविंदघाट में रोके गए करीब 800 तीर्थयात्रियों को बदरीनाथ धाम भेजा गया।

वहीं, सुबह दस बजे से पहले ही करीब डेढ़ सौ तीर्थयात्री लामबगड़ में पैदल ही चलकर उसके बाद वाहन से बदरीनाथ धाम पहुंचे। लामबगड़ में खतरे को देखते हुए हाईवे के दोनों ओर से पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने कहा कि लामबगड़ में वाहनों की आवाजाही रुक-रुककर करवाई जा रही है। लामबगड़ में पुलिस के साथ ही एसडीआरएफ की टीमें मौजूद हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *