देहरादूनः ट्रेनों के संचालन पर अब रोक नहीं, आज से समय पर होगी रवाना सभी ट्रेन

देहरादून रेलवे स्टेशन


-लक्सर से हरिद्वार के बीच रेलवे ट्रैक का दोहरीकरण किए जाने को लेकर मांगा गया ब्लाक अस्वीकृत

-ट्रेनों का संचालन ठप होने की सूचना पर यात्रियों में रही अफरा तफरी, आरक्षण निरस्त कराने पहुंच गए सैकड़ों यात्री

-रेलवे अधिकारियों ने समझा बुझाकर वापस भेजा

देहरादून। हरिद्वार-लक्सर के बीच रेलवे ट्रैक का दोहरीकरण किए जाने के चलते दून से संचालित कई ट्रेनों के संचालन पर रोक लगाए जाने संबंधी सूचना को लेकर यात्रियों में अफरा तफरी का माहौल रहा। आलम यह रहा कि ट्रेेनें निरस्त होने की सूचनाओं के बीच सैकड़ों यात्री आरक्षण निरस्त कराने पहुंच गए। आखिरकार रेलवे अधिकारियों ने उन्हें बताया कि किसी भी ट्रेन का संचालन निरस्त नही किया गया है ऐसे में वह आरक्षण न निरस्त कराएं। आखिरकार यात्रियों के समझाने बुझाने के बाद यात्री लौटे। दूसरी ओर रेलवे अधिकारियों का कहना है कि दोहरीकरण के चलते किसी भी ट्रेन का संचालन निरस्त नहीं किया गया है और सभी ट्रेनें समय पर रवाना होगी।


रेलवे अधिकारियों के मुताबिक हरिद्वार से लक्सर के बीच रेलवे ट्रैक का दोहरीकरण किया जा रहा है। जिसके चलते ठेकेदार से रेलवे बोर्ड से नौ से 18 अक्तूबर तक देहरादून, हरिद्वार व ऋषिकेश से संचालित होने वाली कुछ ट्रेनों के संचालन पर रोक लगाने की मांग की थी। लेकिन बोर्ड ने फिलहाल इसे अस्वीकृत कर दिया। इस बीच यह खबर फैल गई कि देहरादून से संचालित कई ट्रेनों का संचालन निरस्त कर दिया गया है। इस सूचना पर सैकड़ों यात्री आरक्षण निरस्त कराने रेलवे स्टेशन पहुंच गए।

आखिरकार रेलवे अधिकारियों ने उन्हें बताया कि आज से फिलहाल किसी भी ट्रेन का संचालन निरस्त नही है ऐसे में आरक्षण निरस्त कराने की जरूरत नही है। आखिरकार असलियत उजागर होने के बाद यात्री लौट गए। दूसरी ओर स्टेशन अधीक्षक गणेशचंद ने बताया कि फिलहाल ट्रेनोें के संचालन पर कोई रोक नही है। ट्रेनों का समय पर रवाना किया जा रहा है। यदि रेलवे बोर्ड की ओर से ट्रेनों के संचालन पर रोक लगायी जाएगी तो इस संबंध में यात्रियों को पूर्व में जानकारी दी जाएगी।

दीपावली पर ट्रेनों में लगेेंगे अतिरिक्त कोच
दीपावली के मौके पर परिजनों के साथ पर्व मनाने के लिए महाराष्ट्र, बिहार, ओड़िशा, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडुु या मध्य प्रदेश जाने वाले यात्रियों को ट्रेनों में सीटों की किल्लत नहीं होगी। दून से दूसरे राज्यों को जाने वाली ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाए जाएंगे। स्टेशन अधीक्षक की ओर से ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाए जाने को लेकर प्रस्ताव मुख्यालय को भेज दिया है। हालांकि अभी मुख्यालय की ओर से इस संबंध में अनुमति नहीं मिल पाई है।

स्टेशन निदेशक गणेश चंद ठाकुर ने बताया कि दीपावली के दौरान यात्रियों को सीट की किल्लत न हो, इसके लिए उपासना एक्सप्रेस, उज्जैनी एक्सप्रेस, लिंक एक्सप्रेस, देहरादून-मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस, देहरादून-वाराणसी, देहरादून-मदुरै, देहरादून-मुंबई-बाद्रा एक्सप्रेस, देहरादून-इंदौर एक्सप्रेस, देहरादून-हावड़ा जैसी ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाने का प्रस्ताव मुख्यालय को भेजा गया है, लेकिन अभी तक अनुमति नहीं मिल पाई है। यदि अनुुमति मिल जाएगी तो यात्रियों को काफी राहत मिल सकेगी।

परिवहन निगम करेगा अतिरिक्त बसों का संचालन

दीपावली के दौरान देहरादून से दिल्ली, गुड़गांव, जयपुर, चंडीगढ़, लखनऊ, जाने वाले यात्रियों को दिक्कत न हो, इसके लिए परिवहन निगम भी अतिरिक्त बसों का संचालन करेगा। प्रबंध निदेशक रणवीर सिंह चैहान का कहना है कि दीपावली के दौरान यात्रियों को बसों की दिक्कत नहीं होगी। प्रयास होगा कि दीपावली से पहले ही खरीदी गई नई बसों को सड़कों पर उतार दिया जाए। इसके अलावा तकनीकी खराबी के चलते जो बसें कार्यशालाओं में खड़ी हैं उनकी भी मरम्मत कर सड़कों पर उतारा जाएगा।

रेलवे ट्रैक के पास मेला लगाने पर दर्ज होगा मुकदमा
साल 2018 में पंजाब के अमृतसर में रेलवे लाइन के किनारे लगाए गए मेले के दौरान ट्रेन की चपेट में आकर कई लोगों की मौत की घटना से सबक लेते हुए रेलवे की ओर से रेलवे लाइनों के किनारे मेलों के आयोजन पर रोक लगा दी गई है। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक की ओर से अधीनस्थ अधिकारियों को आदेश जारी किया गया है कि वे यह सुनिश्चित कराएं कि रेलवे लाइनों के किनारे किसी भी सूरत में किसी भी मेले का आयोजन न होने पाए, यदि रोक के बावजूद मेलों का आयोजन किया जाता है तो आयोजकों के खिलाफ रेलवे एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया जाए।

वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा शर्मा ने बताया कि रेलवे लाइनों के किनारे मेलों का आयोजन किए जाने से हादसों की संभावना बनी रहती है। ऐसे में मेलोें के आयोजनों पर रोक लगाई गई है। अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे मंडल के अंतर्गत संचालित ट्रेनों में यात्रा कर जानकारी जुटाएं कि कहीं रेलवे लाइनों के किनारे मेलों का आयोजन तो नहीं किया जा रहा है। यदि मेलों का आयोजन किया जा रहा है तो तत्काल इसकी जानकारी संबंधित अधिकारी को दी जाए ताकि समय रहते नियमानुसार कार्रवाई की जा सके। दूसरी ओर दून रेलवे स्टेशन के मुख्य वाणिज्य निरीक्षक एसके अग्रवाल ने बताया कि फिलहाल रेलवे लाइनों के किनारे किसी भी प्रकार के मेले का आयोजन नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में रिपोर्ट मुख्यालय को भेज दी गई है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *