शांति और शुकून के बीच प्रकृति का दिदार है पसंद, तो आएं फूलों की घाटी


चमोली। संवाददाता। विश्व धरोहर फूलों की घाटी आगामी 31 अक्टूबर को बंद कर दी जाएगी। इस साल फूलों की घाटी के दीदार को अब तक देश-विदेश से रिकॉर्ड 16862 पर्यटक पहुंच चुके हैं। यह घाटी में पहुंचने वाले पर्यटकों की सर्वाधिक संख्या है।

चमोली जिले में समुद्रतल से 12995 फीट की ऊंचाई पर स्थित फूलों की घाटी अपनी जैव विविधता के लिए विश्व विख्यात है। 87.5 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैली घाटी में 500 से अधिक दुर्लभ प्रजातियों के फूल खिलते हैं। इसके अलावा यहां दुर्लभ प्रजाति के जीव-जंतु, परिंदे और औषधीय वनस्पतियां पाई जाती हैं। इसी वजह से प्रकृति प्रेमियों और वनस्पति शास्त्रियों की यह सबसे पसंदीदा जगह है।

सुखद यह है कि इस साल घाटी के दीदार को बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं। अब तक 16355 भारतीय और 507 विदेशी पर्यटक घाटी की सैर कर चुके हैं। जबकि, अभी घाटी को बंद होने में 19 दिन शेष हैं। वर्ष 2018 में 14742 पर्यटकों ने घाटी का दीदार किया था।

पर्यटकों से 27 लाख की कमाई

फूलों की घाटी वन प्रभाग के वन क्षेत्राधिकारी बृजमोहन भारती ने बताया कि कमाई के मामले में भी इस बार घाटी ने नया रिकॉर्ड बनाया है। पर्यटकों की आमद बढने से नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क प्रशासन अब तक 26 लाख 80 हजार रुपये की आय हो चुकी है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *