कस्तूरी मृग ब्रीडिंग सेंटर होगा स्थापित, बढ़ेगी संख्या

देहरादून। संवाददाता। नैना देवी बर्ड कंजर्वेशन के किलबरी नैनीताल में कस्तूरी मृग का ब्रीडिंग सेंटर स्थापित किया जाएगा। नैनीताल चिड़ियाघर प्रबंध समिति ने इसका प्रस्ताव तैयार किया है। प्रबंधन समिति की छह फरवरी को प्रस्तावित बैठक में प्रस्ताव पर मुहर लगने की उम्मीद है। वहीं नैनीताल चिड़ियाघर में टाइगर बाड़े का भी विस्तार किया जा रहा है। सेंट्रल जू अथॉरिटी ने इसकी अनुमति दे दी है। मादा बाघ के गर्भवती होने के बाद इसकी जरूरत महसूस की जा रही है।

चिड़ियाघर प्रबंधन की ओर से बागेश्वर के धरमघर कस्तूरी मृग अनुसंधान केंद्र में रह रहे कस्तूरी मृगों में से तीन जोड़े व जंगल से दो जोड़े कस्तूरी मृग लाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इन जोड़ों को नैनीताल चिड़ियाघर में रखा जाएगा। कस्तूरी मृग के प्रजनन के लिए नैनीताल वन प्रभाग के किलबरी वन क्षेत्र में स्थल का चयन कर लिया गया है। डीएफओ डॉ धर्म सिंह मीणा ने बताया कि कंजर्वेशन ब्रीडिंग सेंटर बनाने का प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि नैनीताल चिडियाघर में हिम तेंदुए की कमी भी दूर होगी। चिड़ियाघर में एक हिम तेंदुआ थाए जिसकी मौत हो चुकी है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *