जवानों के हत्यारों को सजा जरूर मिलेगी- पीएम मोदी


नई दिल्ली। संवाददाता। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि इस हमले के गुनहगार को जरूर सजा मिलेगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए सुरक्षाबलों को पूरी आजादी दे दी गई है। बता दें कि पुलवामा स्थित लेथपोरा में गुरुवार को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले में ३७ जवान शहीद हो गए।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंक के सरपरस्तों को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। मोदी ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि इस समय बड़ी आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रहे हमारे पड़ोसी देश को ये भी लगता है कि वो ऐसी तबाही मचाकर, भारत को बदहाल कर सकता है। उसके ये मंसूबे भी कभी पूरे नहीं होंगे। १३० करोड़ हिंदुस्तानी ऐसी हर साजिश, ऐसे हर हमले का मुंहतोड़ जवाब देंगे।

उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ चुका हमारा पड़ोसी देश अगर ये समझता है कि जिस तरह के कृत्य वो कर रहा है, जिस तरह की साजिशें रच रहा है, उससे भारत में अस्थिरता पैदा करने में सफल हो जाएगा, तो वो बहुत बड़ी भूल कर रहा है। मैं आतंकी संगठनों को और उनके सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वो बहुत बड़ी गलती कर गए हैं। मैं देश को भरोसा देता हूं कि हमले के पीछे जो ताकते हैं, इस हमले के जो भी गुनहगार हैं, उन्हें उनके किए की सजा अवश्य मिलेगी।

पीएम ने कहा कि इस हमले की वजह से देश में जितना आक्रोश है, लोगों का खून खौल रहा है, ये मैं समझ रहा हूं। इस समय जो देश की अपेक्षाएं हैं, कुछ कर गुजरने की भावनाएं हैं, वो स्वाभाविक है। हमारे सुरक्षा बलों को पूर्ण स्वतंत्रता दी हुई है। हमें अपने सैनिकों के शौर्य पर पूरा भरोसा है। मुझे पूरा भरोसा है कि देशभक्ति के रंग में रंगे लोग सही जानकारियां भी हमारी एजेंसियों तक पहुंचाएंगे, ताकि आतंक को कुचलने में हमारी लड़ाई और तेज हो सके।
मोदी ने कहा कि जो हमारी आलोचना कर रहे हैं, उनकी भावनाओं को भी मैं समझ रहा हूं। उनका पूरा अधिकार है। लेकिन मेरा सभी साथियों से अनुरोध है कि, ये बहुत ही संवेदनशील और भावुक समय है, इसलिए राजनीतिक छींटाकशी से दूर रहें। इस हमले का देश एकजुट होकर मुकाबला कर रहा है, ये स्वर विश्व में जाना चाहिए।
आतंकी हमले के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है। शुक्रवार को कश्मीर की सुरक्षा स्थिति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में कैबिनेट कमेटी की बैठक समाप्त हुई। इसमें रक्षा मंत्री, गृह मंत्री, विदेश मंत्री और वित्त मंत्री भी मौजूद रहे।

बैठक के बाद अरुण जेटली ने कहा कि सीसीएस ने पुलवामा हमले की समीक्षा की और इसपर चर्चा की। उन्होंने कहा कि जिन जवानों ने शहादत दी है उनपर देश को गर्व है। विदेश मंत्रालय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए सभी संभावित कदम उठाएगा। बैठक में हुए सभी फैसलों को बाहर नहीं बताया जा सकता है। अरुण जेटली ने ऐलान किया कि भारत सरकार ने पाकिस्तान को दिया हुआ मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया है। पाकिस्तान को कूटनीतिक स्तर पर घेरने की तैयारी की जा रही है।

पुलवामा हमले के फौरन बाद गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके लिखा कि वीर जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।उन्होंने कहा कि मैं इस कायराना हमले की निंदा करता हूं। हमारे बहादुर जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। पूरा देश उनके परिवार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। हम आशा करते हैं घायल जवान जल्द ही ठीक हों। पीएम मोदी ने बताया कि पुलवामा में हमले के मद्देनजर स्थिति को लेकर मैंने गृह मंत्री राजनाथ सिंह जी और अन्य शीर्ष अधिकारियों से बात की।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *