मौसम के बदले मिजाज के चलते चरधाम यात्रा में पड़ सकता है खलल-बर्फबारी शुरू


देहरादून। संवाददाता। चारधाम यात्रा शुरू होने में अब अधिक समय शेष नहीं बचा है। प्रशासन यात्रा की तैयारियों में जुटा हुआ है लेकिन मौसम की मार से यात्रा की तैयारियों में बाधा आ रही है। रिकार्ड बर्फबारी के कारण अब तक चारों धाम बर्पफ से ढके हुए है। वहीं ताजा बर्पफबारी व बारिश के कारण यहंा कड़ाकें की सर्दी के कारण तैयारियों की गति पर ब्रेक लगा हुआ है।

सूबे के चारो धामों के खुलने की तारीखें तय की जा चुकी है। 7 मई को गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खोले जायेगें वहीं 9 मई को केदारनाथ तथा 10 मई को बद्रनाथ धाम के कपाट खोले जाना तय हो चुका है। दो दिन पूर्व मंन्दिर समिति द्वारा तैयारियों के लिए पहला दल बद्रीनाथ धाम रवाना किया जा चुका है। जिसे मन्दिर परिसर में मरम्मत व रंग रोगन का कार्य कराना है। लेकिन परिसर में अभी भारी मात्रा में बर्फ जमा है यही नहीं बद्रीनाथ मार्ग पर भी बर्फ जमी हुई है। जिसे साफ किया जाना है उधर केदारधाम में भी रास्तों से बर्फ हटाने का काम चल रहा है। केदार मंन्दिर परिसर और रास्तों पर अभी भारी बर्फ जमी हुई है जिसके कारण यात्रा की तैयारियंा धीमी गति से चल रही है
बीते कल बद्रीनाथ व हेमकुंड साहिब व केदारनाथ में बर्फबारी और बारिश का क्रम जारी रहा। चमोली और उत्तरकाशी के ऊंचाई वाले इलाकों में वर्षा व बर्फबारी से तापमान में भारी गिरावट आयी है। कल केदारधाम व आस पास के क्षेत्र में तीन से चार इंच तक बर्फबारी हुई। मौसम विभाग की चेतावनी के अनुसार अभी यह क्रम दो दिन तक जारी रहेगा।। मौसम के बदले इस मिजाज के कारण चारधाम यात्रा की तैयारियों में बाधा आ रही है। सबसे बड़ी चुनौती 15 दिनों में मार्ग से बर्फ हटाने व सड़कों की स्थिति में सुधार करने की है जिससे चारधाम यात्रा समय पर शुरू हो सके और यात्रियों को किसी भी तरह की परेशानियों का सामना न करना पड़े।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *